ऊँचाई / ख़लील जिब्रान

Gadya Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अगर आप बादल पर बैठ सके तो एक देश से दूसरे देश को अलग करने वाली सीमा रेखा आपको कहीं दिखाई नहीं देगी और न ही एक खेत से दूसरे खेत को अलग करनेवाला पत्थर ही नजर आएगा।

च्च...च....च... आप बादल पर बैठना ही नहीं जानते।

(अनुवाद :सुकेश साहनी)