दो खिड़कियाँ / अमृता प्रीतम

Gadya Kosh से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


दो खिड़कियाँ
Do khirkiya.jpg
रचनाकार अमृता प्रीतम
प्रकाशक राजकमल प्रकाशन
वर्ष २०००
भाषा हिन्दी
विषय कहानी
विधा
पृष्ठ 126
ISBN
विविध इनमें से सात कहानियाँ एक लघु उपन्यास की सबसे अंत में एक ऐसा प्रयोग है जिसमें दुनिया के नौ उपन्यासों में से नौ पात्र चुनकर उनकी मनोदशा को समझने की कोशिश की गई है-हर पात्र की आत्मा में पैठकर।
इस पन्ने पर दी गई रचनाओं को विश्व भर के स्वयंसेवी योगदानकर्ताओं ने भिन्न-भिन्न स्रोतों का प्रयोग कर गद्य कोश में संकलित किया है। ऊपर दी गई प्रकाशक संबंधी जानकारी छपी हुई पुस्तक खरीदने हेतु आपकी सहायता के लिये दी गई है।